एडवांस्ड सर्च

राष्ट्रमंडल खेल: विशेष सुरक्षा चौकसी, इंटरपोल के संपर्क में सुरक्षा एजेंसियां

राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान आतंकी हमले की आशंका के मद्देनजर सरकार ने सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है. स्टेडियमों तथा खेल गांव के अलावा राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के प्रमुख बाजारों एवं अन्य सार्वजनिक स्थानों में भी अतिरिक्त सुरक्षाबल तैनात किये गये हैं. देश के विभिन्न राज्यों को भी एलर्ट रहने को कहा गया है.

Advertisement
Sahitya Aajtak 2018
भाषानई दिल्‍ली, 06 October 2010
राष्ट्रमंडल खेल: विशेष सुरक्षा चौकसी, इंटरपोल के संपर्क में सुरक्षा एजेंसियां

राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान आतंकी हमले की आशंका के मद्देनजर सरकार ने सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है. स्टेडियमों तथा खेल गांव के अलावा राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के प्रमुख बाजारों एवं अन्य सार्वजनिक स्थानों में भी अतिरिक्त सुरक्षाबल तैनात किये गये हैं. देश के विभिन्न राज्यों को भी एलर्ट रहने को कहा गया है.

गृह मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि राष्ट्रमंडल खेल के दौरान किसी आतंकी हमले की आशंका संबंधी खुफिया खबरों के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है.

उन्होंने कहा कि सुरक्षा एजेंसियों ने संभावित आतंकी हमले की आशंका और खेलों के दौरान गड़बड़ी फैलाने के किसी भी प्रयास को लेकर इंटरपोल से जानकारी साझा की है.

केन्द्र सरकार ने उन राज्यों को विशेष तौर पर एलर्ट किया है, जिन जिन जगहों पर लश्कर आतंकवादी डेविड कोलमैन हेडली गया था.

राजधानी दिल्ली के 36 प्रमुख बाजारों में सुरक्षा व्यवस्था शनिवार से ही कडी कर दी गयी. शनिवार और रविवार के अवकाश के दिनों में विशेष सतर्कता बरती जा रही है. बाजारों में अर्धसैनिक बलों के 1200 अतिरिक्त जवान तैनात किये गये हैं. दिल्ली पुलिस के जवान भी सुरक्षा का जिम्मा संभाल रहे हैं.

खुफिया खबरों के आधार पर गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों से भीडभाड वाली जगहों, बाजारों, धार्मिक स्थलों और अन्य संवेदनशील स्थानों पर सुरक्षा कडी करने को कहा है.

विशेष तौर पर महाराष्ट्र, राजस्थान, कर्नाटक, गोवा और दिल्ली को एलर्ट किया गया है. हेडली इस समय अमेरिकी हिरासत में है. वह मुंबई में हुए आतंकवादी हमले का अभियुक्त है. वह दिल्ली, पुणे और अजमेर के कई स्थानों पर गया था.

सूत्रों ने कहा कि आतंकवादी संभवत: इस बात का फायदा उठाने की कोशिश करें कि राजधानी में राष्ट्रमंडल खेल चल रहे हैं, तो वे स्टेडियमों और खेल गांव की बजाय अन्य सार्वजनिक स्थलों को अपना निशाना बना सकते हैं.

खुफिया सूत्रों ने बताया कि लाजपत नगर, खान मार्केट, चांदनी चौक और ग्रेटर कैलाश सहित दिल्ली के सभी प्रमुख बाजारों में कडी चौकसी बरती जा रही है. सूत्रों ने कहा कि दैनिक आधार पर भारतीय सुरक्षा एजेंसियां इंटरपोल के संपर्क में हैं ताकि हवाई अडडों या किसी अन्य स्थान पर यदि कोई संदिग्ध व्यक्ति पकडा जाए तो उसके बारे में पूरी जानकारी हासिल हो सके.  गेस्ट हाउस और होटलों में भी विशेष सुरक्षा चौकसी बरती जा रही है हालांकि खेलों को लेकर अभी भी कोई विशिष्ट खतरा नहीं है लेकिन सुरक्षाबल किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार हैं.

सूत्रों ने कहा कि जामा मस्जिद में गोलीबारी की घटना को अंजाम देने वाले दोनों हमलावर अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर हैं. सुरक्षा एजेंसियां संदिग्ध दोपहिया वाहनों और वाहन चालकों की तलाशी कर रही हैं.

एक सवाल के जवाब में गृह मंत्रालय के एक सूत्र ने बताया कि एथलीटों को दिल्ली के पर्यटन स्थलों पर घुमाने की विशेष व्यवस्था की गयी है. कुछ एथलीट अपने संबद्ध दूतावास के अधिकारियों के साथ अलग से भी घूमने जा रहे हैं. उनके स्वतंत्र रूप से घूमने पर किसी तरह का कोई प्रतिबंध नहीं लगाया गया है.

उन्होंने बताया कि पुराना किला और दिल्ली हाट जैसी जगहों पर एथलीट अपने आप भी निजी वाहनों से जा रहे हैं.

यह पूछने पर कि क्या अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए के प्रमुख लियोन पेनेटा ने भारत प्रवास के दौरान किसी खतरे का संकेत दिया था, सूत्रों ने कोई टिप्पणी करने से इंकार कर दिया.

उन्होंने बताया कि एथलीटों और अधिकारियों के दलों को आगरा में ताज दर्शन कराने के भी विशेष इंतजाम किये गये हैं. 13 अक्तूबर तक ये लोग दिल्ली से आगरा जा सकेंगे.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay