एडवांस्ड सर्च

अजमेर दरगाह के दीवान बोले- फैसला कुछ भी हो, देश में अमन चैन रहना जरूरी

फैसले से पहले अजमेर शरीफ दरगाह के दीवान ने लोगों से सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करने की अपील की है. उन्होंने कहा, फैसला जो भी आए कोई भावनाओं में न बहे. न ही कोई खुशी नहीं मनाए और न ही कोई निराश हो.

Advertisement
aajtak.in
देव अंकुर अजमेर, 09 November 2019
अजमेर दरगाह के दीवान बोले- फैसला कुछ भी हो, देश में अमन चैन रहना जरूरी अजमेर शरीफ दरगाह

  • अयोध्या राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर फैसला आज
  • देशभर में सुरक्षा के कड़े इंतजाम, हो रही शांति बनाए रखने की अपील

अयोध्या राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक पीठ आज 10.30 बजे फैसला सुनाएगी. देश भर में फैसले से पहले सुरक्षा के चाक-चौबंद इंतजाम किए गए हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और कई अन्य नेताओं की ओर से शांति और सौहार्द बनाए रखने की अपील की गई है. फैसले से पहले अजमेर शरीफ दरगाह के दीवान ने लोगों से सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करने की अपील की है. उन्होंने कहा, फैसला कुछ भी हो, कोई खुशी न मनाए और न ही कोई निराश हो.

दरअसल सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद किसी भी अप्रिय स्थिति से बचाव के लिए पहले से कोशिश की जा रही है कि देश में अमन और सांप्रदायिक सौहार्द बना रहे. इसी कड़ी में अजमेर के प्रसिद्ध सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती के दरगाह दीवान ने भी लोगों से अपील की है. दरगाह दीवान जैनुल आबेदीन चिश्ती ने सभी से सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करने की अपील की है.

अयोध्या फैसले से पहले PM मोदी की अपील- किसी की हार-जीत नहीं, शांति-सौहार्द बनाए रखें

आबेदीन ने कहा कि देश के मुस्लिम व अन्य धर्म के बाशिंदों को अपनी भावनाओं पर संयम रखते हुए सुप्रीम कोर्ट का फैसले का सम्मान करना चाहिए. दरगाह दीवान ने कहा कि फैसला भले ही किसी के भी पक्ष में आए देश में अमन चैन रहना जरूरी है. अजमेर के दरगाह दीवान समय-समय पर अहम मुद्दों पर अपने विचार रखते आए हैं. राम मंदिर मुद्दे के बारे में दीवान आबेदीन ने यह भी कहा कि जिस पक्ष के हक में फैसला आए वह खुशी न मनाए और जिसके खिलाफ फैसला आए वो निराश न हो.

अयोध्या पर इंतजार खत्म, कुछ देर बाद सुप्रीम कोर्ट सुनाएगा फैसला

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर दिल्ली में सुरक्षा के खासे इंतजाम किए गए हैं. आधी रात के बाद से ही सुप्रीम कोर्ट की ओर जाने वाली भगवान दास रोड को बैरिकेड लगाकर बंद कर दिया गया और अत्याधुनिक हथियारों से लैस दिल्ली पुलिस के जवानों को तैनात किया गया. जैसे ही खबर आई कि शनिवार सुबह 10:30 बजे सुप्रीम कोर्ट अयोध्या विवाद पर फैसला देगा. दिल्ली पुलिस के आला अधिकारियों ने दिल्ली में सुरक्षा को लेकर एक आपात बैठक की और दिल्ली के तमाम हिस्सों में सुरक्षा को बढ़ाते हुए पैट्रोलिंग में इजाफा किया.

तीन लेयर में SC की सुरक्षा, 500 पुलिसकर्मी और तीन कंपनी CRPF तैनात

संवेदनशील इलाकों पर सीसीटीवी के जरिए नजर रखी जा रही है. सादी वर्दी में भी पुलिसवालों को तैनात किया गया है. इसके साथ ही दिल्ली पुलिस ने सोशल मीडिया के जरिए लोगों से अपील की कि वह शांति और सौहार्द बनाए रखें. धार्मिक उन्माद फैलाने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल कतई ना करें. फिलहाल अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर राजधानी दिल्ली में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. बॉर्डर के पास वाले इलाकों में भी सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay