लगातार 13 वर्षों से सर्वश्रेष्‍ठ
30 अगस्त, 2014 | 17:37
होम  >  ख़बरें अब तक
ख़बरें अब तक
'सचिन पा जी' के साथ की थी मेहनतः रैना
28 August, 2014
सुरेश रैना
कार्डिफ वनडे में सुरेश रैना की विनिंग सेंचुरी के दम पर टीम इंडिया ने इंग्लैंड को 133 रनों से हराकर सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली. 75 गेंदों में 100 रन की शानदार पारी के बाद मुरादनगर के इस क्रिकेटर ने बताया कि फॉर्म में लौटने के लिए उन्होंने सचिन तेंदुलकर के साथ मुंबई में कड़ी मेहनत की थी.

जो चाहता था, वो करने में कामयाब रहा...
खब्बू बल्लेबाज सुरेश रैना ने कहा, ‘तीन साल में पहली वनडे सेंचुरी जड़कर सचमुच अच्छा लग रहा था. मैं टीम में तरोताजा ऊर्जा वापस लाना चाहता था और मैं खुश हूं कि अपने ओवरऑल प्रदर्शन से ऐसा कर सका.’

भारत के बाहर पहली सेंचुरी...
उन्होंने कहा, ‘हालात और परिस्थितियों को देखते हुए यह स्पेशल पारियों में से एक है. हमने लंबे समय से मैच नहीं जीता था और इस सेंचुरी से टीम को यह मिथक तोड़ने में मदद मिली जो संतोषजनक थी.’ साल 2010 के बाद यह रैना की पहली वनडे सेंचुरी थी और उपमहाद्वीप के बाहर पहली.

सचिन पाजी के साथ की थी कड़ी मेहनत
रैना ने बताया कि उन्होंने वनडे सीरीज से पहले अपने खेल पर कड़ी मेहनत की. उन्होंने कहा, ‘मैंने मुंबई में अपने गेम में सचिन पा जी और प्रवीण आमरे सर के साथ जितनी कड़ी मेहनत की थी, उससे मुझे टीम से जुड़ने का पूरा भरोसा था और मैं टीम में कुछ खुशियां लाने के लिए आश्वस्त था, भले ही यह सेंचुरी जड़कर लाऊं या फिर शानदार कैच लपककर.’

साथी खिलाड़ियों के चेहरे पर लाना चाहता था मुस्कान...
उन्होंने कहा, ‘मुझे अपने साथी खिलाड़ियों के चेहरों पर मुस्कान लानी थी. मैं खुश हूं कि मैं यह कर सका. टीम का माहौल इस समय काफी अच्छा है और मुझे उम्मीद है कि हम बचे हुए मैचों में यही प्रदर्शन जारी रखेंगे.’ टीम इंडिया के टेस्ट सीरीज गंवाने के बावजूद रैना ने कहा कि उनकी टीम काफी अच्छी है और उन्होंने कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की इस मुश्किल दौर के दौरान प्रेरणा देने के लिए तारीफ की.

रैना ने धोनी को सराहा...
रैना ने कहा, ‘हमने टेस्ट सीरीज में अच्छा प्रदर्शन नहीं किया लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हम बुरी टीम हैं. हम वनडे में दूसरी रैंकिंग पर काबिज हैं और मौजूदा वर्ल्ड कप और चैंपियंस ट्रॉफी विजेता हैं. महेंद्र सिंह धोनी ने टेस्ट मैचों के बाद टीम की अगुवाई करने में बहुत अच्छा काम किया और युवा खिलाड़ियों का आत्मविश्वास बनाए रखा. हमने फैसला कर लिया था कि हम एक दूसरे की सफलता साझा करेंगे. यह हमारे फील्डिंग प्रदर्शन में दिखाई दिया.’

Top Downloads