लगातार 14 वर्षों से सर्वश्रेष्‍ठ
21 नवम्बर, 2014 | 22:28
होम  >  ख़बरें
ख़बरें
DU के छात्रों को इसी साल से फ्री लैपटॉप
11 April, 2013
लैपटॉप
दिल्‍ली विश्‍वविद्यालय (डीयू) ने चार वर्षीय अंडरग्रेजुएट छात्रों को फ्री लैपटॉप देने का फैसला किया है. डीयू का मानना है कि ऐसा करने से छात्र जुलाई से शुरू हो रहे चार साल के अंडरग्रेजुएट कोर्स में टेक्‍नोलॉजी का बेहतर इस्‍तेमाल कर सकेंगे.

जितने भी कॉलेज डीयू के अधीन हैं, उन्‍हें राष्‍ट्रीय ज्ञान नेटवर्क के साथ जून के अंत तक जोड़ा जाएगा और छात्र इन लैपटॉप के जरिए अपने क्‍लास रूम में बैठे-बैठे ही देश के किसी भी कॉलेज से जुड़ सकते हैं. डीयू में ग्रेजुएशन के फर्स्ट ईयर में छात्रों की संख्या 54 हजार है. हालांकि अब तक कितने लैपटॉप दिए जाने हैं इसका निर्णय नहीं लिया गया है लेकिन संबंध अधिकारी जल्द ही इस बाबत टेंडर लाने की तैयारी कर रहे हैं.

डीयू के उप-कुलपति प्रोफेसर दिनेश सिंह ने कहा, ‘एक समिति इसके लिए तैयार की गई है. नए कार्यक्रम के लिए वो समिति आईटी इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर के साथ मिलकर काम कर रही है और इसकी सिफारिशों के अनुसार ही लैपटॉप खरीदने की प्रक्रिया पूरी की जाएगी.’

उन्‍होंने बताया, ‘जो भी छात्र डीयू में दाखिला लेगा उसे एक नोटबुक की सुविधा दी जाएगी. इसके लिए हमें सरकार की ओर से अनुदान मिल चुका है और यह कॉलेजों पर निर्भर करता है कि वो ये लैपटॉप छात्रों को जमानती राशि या लिखित करार के बाद दें.’ साथ ही उन्होंने बताया, ‘इस नए प्रोग्राम को तब तक प्रस्‍तुत नहीं किया जाएगा जब तक कि इसके लिए गठित समिति की अंतिम रिपोर्ट हमें नहीं मिल जाती है.’

उन्होंने बताया कि दूसरे कॉलेजों के साथ शैक्षिक सहयोग बढ़ाने के उद्देश्य से नेशननल नॉलेज नेटवर्क में 1000 एमबी की बैंडविड्थ की सुविधा मौजूद रहेगी.

उप-कुलपति प्रोफेसर सिंह ने आगे बताया, ‘हमने सॉफ्टवेयर टेक्‍नोलॉजी पार्क ऑफ इंडिया के साथ एक करार भी किया है. यदि किसी कॉलेज के किसी क्‍लास में लेक्चर चल रहा है तो उसे दूसरे किसी भी कॉलेज के छात्र अपने नोटबुक के जरिए देख सकते हैं.’ 

डीयू अपने इस चार वर्षीय पाठ्यक्रम को सूचना और संचार टेक्नोलॉजी से जोड़ना चाहता है इसके लिए एलसीडी और प्रोजेक्टर कई कॉलेजों में भेजा जा चुका है.

उन्होंने बताया कि अध्‍यापकों को उनके लेक्‍चरों को कॉलेज की वेबसाइट पर अपलोड करने के सुविधा भी दी गई है. साथ ही वो अपने लेक्‍चर के 5 मिनट की वीडियो क्लिप सोशल नेटवर्किंग साइट यू ट्यूब पर भी डाल सकते हैं. जिसे छात्र क्लास के दौरान अपने नोटबुक पर खोल कर देख सकते हैं. उन्‍होंने साथ ही ये भी बताया कि उस नोटबुक और बैंडविड्थ के जरिये दो या चार कॉलेज के छात्र किसी एक विषय एक साथ चर्चा भी कर सकते हैं.

डीयू इसके साथ ही विशेष आवश्यकता वाले छात्रों को सहायक टेक्नोलॉजी के साथ फ्री नोटबुक भी मुहैया करायेगा. इस साल फरवरी तक 1350 नोटबुक के लिए टेंडर जारी किया गया था जिसे लेने की तैयारी की जा रही है.

प्रोफेसर सिंह ने बताया कि इन नोटबुक के अलावा पत्रकारिता और मीडिया के छात्रों को इस क्षेत्र की नई टेक्नोलॉजी से भी लैस किया जाएगा. हम मीडिया छात्रों के लिए उपकरणों को खरीद रहे हैं. विज्ञान के छात्रों के लिए प्रयोगशाला होती है ठीक उसी प्रकार से मीडिया की पढ़ाई करने वाले छात्रों को लिए भी लैब की सुविधा दी जाएगी.

हालांकि कुछ प्रोफेसरों को नए फार्मेट से बहुत खफा हैं लेकिन डीयू के अधिकारी यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि अंडरग्रेजुएट कोर्स का यह नया फार्मेट छात्रों के लिए वर्तमाम समय के अनुरूप हो जिससे वो कुछ नया करने की सोच सकें.

Top Downloads